Home India पीजी की परीक्षाएं 15 मार्च से, प्रदेशभर में बनाए 44 केंद्र

पीजी की परीक्षाएं 15 मार्च से, प्रदेशभर में बनाए 44 केंद्र

- Advertisement -

हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय 15 मार्च से प्रदेश भर में बनाए गए 44 परीक्षा केंद्रों में स्नातकोत्तर डिग्री कोर्स की परीक्षाएं शुरू करेगा। परीक्षा केंद्रोें में प्रश्नपत्रों की सप्लाई पहुंच चुकी है। कोरोना संक्रमण से बचाव के मद्देनजर विवि ने इस बार 44 केंद्रों में परीक्षा की सुविधा दी है। छात्र अपने घर के नजदीकी केंद्र में परीक्षा दे सकेंगे। परीक्षा संचालन के लिए स्टाफ की ड्यूटी भी लगा दी गई है।

विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ. जेएस नेगी ने बताया कि परीक्षा की तैयारियां पूरी कर दी गई हैं। एमबीए रेगुलर कोर्स की परीक्षा भी छात्र प्रदेश भर के किसी भी केंद्र में दे सकेंगे। इसके लिए इंतजाम कर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि छात्रों की ओर से ऑनलाइन भरे गए परीक्षा केंद्रों के मुताबिक केंद्र आवंटित किए गए हैं। यदि कोई छात्र परीक्षा केंद्र नहीं चुन पाया है, तो वह औपचारिकता पूरी कर कहीं भी परीक्षा दे सकेगा। 

इन पीजी कोर्स की सिर्फ एचपीयू में होगी परीक्षा 
विश्वविद्यालय ने पहले ही साफ कर दिया है कि पीजी डिप्लोमा कोर्स और 13 ऐसे कोर्स हैं, जिनकी परीक्षा के लिए सिर्फ विवि में ही केंद्र बनाए गए हैं। इनमें एमए साइकोलॉजी, एमए ड्राइंग और पेंटिंग, एमबीई, एमएसडब्लू, एमए ग्रामीण विकास, एमटीए, एमएफए, एमबीए ग्रामीण विकास, एमए जर्नलिज्म, एमए डिफेंस एंड स्ट्रेटेजिक स्टडीज, एमए योग स्टडीज, एमएससी ई डब्लूएस के अलावा एमएमसी के लिए शिमला में सेंटर बनाए गए हैं। रिजनल सेंटर धर्मशाला में एमएससी जियोलॉजी, एमबीए, एमएमसी के लिए लिए सेंटर बनाए गए हैं। 

यूजी वार्षिक प्रणाली के विशेष मौके की परीक्षाएं 15 से 
एचपीयू सत्र 2000 से 2012 तक के यूजी वार्षिक प्रणाली में पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए दिए गए श्रेणी सुधार और डिग्री पूरी करने की परीक्षाएं 15 मार्च से ही शुरू होंगी। इसके लिए प्रदेश भर में विवि ने सिर्फ छह परीक्षा केंद्र ही बनाएं हैं। 

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

Most Popular