HomeBlogआपके काम की बात : Smartphone के बारे में वो झूठी बातें,...

आपके काम की बात : Smartphone के बारे में वो झूठी बातें, जिसे अधिकतर लोग मानते हैं सच

Everyone is using Smartphone in today's era. Nowadays it has become like a member of the family, whom no one wants to take away from themselves, better take care of them. Some people are also such that if the phone is ever away from them by mistake, then it starts worrying, if it breaks, they become sad, they start crying. Well, all these are common things, but do you know that there are some things related to smartphones, which are false, but many people believe them to be true. Many people must have said many such things to you too that one should not leave the phone on charge at night, the higher the megapixels of the phone's camera, the better the photo will come. Now how much truth is there in all these things, today we will tell you about this. So let us tell you about some of the rumors spread about the smartphone, which people often believe to be true.

- Advertisement -

Smartphone का इस्तेमाल तो आज के जमाने में हर कोई कर रहा है। आज कल यह परिवार के एक सदस्य की तरह हो गया है, जिसे कोई भी खुद से दूर नहीं करना चाहता, बेहतर तरीके से उसका ख्याल रखते हैं। कुछ लोग तो ऐसे भी होते हैं कि अगर गलती से भी कभी फोन उनसे दूर हो जाए तो चिंता सताने लगती है, टूट जाए तो दुखी हो जाते हैं, रोने लगते हैं। खैर, ये सब तो आम बातें हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि स्मार्टफोन से जुड़ी कुछ ऐसी भी बातें हैं, जो होती हो झूठ हैं, लेकिन बहुत से लोग उन्हें सच मान बैठते हैं। आपसे भी कई लोगों ने कई ऐसी बातें कही होंगी कि रात में चार्ज पर लगाकर फोन को नहीं छोड़ना चाहिए, फोन के कैमरे का मेगापिक्सल जितना ज्यादा होगा, उतनी ही अच्छी फोटो आएगी। अब इन सब बातों में कितनी सच्चाई है, आज हम आपको इसी के बारे में बताएंगे। तो चलिए हम आपको बताते है smartphone के बारे में फैली कुछ अफवाहों के बारे में, जिन्हें अक्सर लोग सच मान लेते हैं। 

बैटरी के बारे में (About battery)

false things about Smartphone battery

बहुत से लोग कहते हैं कि नया फोन खरीदने के बाद पहली बार उसे इस्तेमाल करने से पहले फुल चार्ज कर लेना चाहिए, ज्यादा एमएएच की बैटरी अच्छी होती है, फोन को तभी चार्ज करना चाहिए, जब बैटरी पूरी तरह खत्म हो जाए। Mobile experts बैटरी को लेकर किए जा रहे इस तरह के दावों को झूठा बताते हैं

शिमला घूमने का सबसे अच्छा समय | Best time to visit Shimla in Hindi

कैमरे के बारे में (about the camera)

false things about mobile camera

ज्यादातर लोग जब स्मार्टफोन खरीदने जाते हैं तो सबसे पहले फोन का कैमरा देखते हैं कि वह कितने मेगापिक्सल का है, क्योंकि उन्हें लगता है कि ज्यादा मेगापिक्सल वाले कैमरे से फोटो अच्छी आती है, जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है। सच्चाई तो ये है कि फोटो की क्वालिटी मेगापिक्सल के साथ-साथ अपर्चर जैसी चीजों पर भी निर्भर करती है। इसलिए सिर्फ कैमरे के मेगापिक्सल पर न जाएं। 

हिल स्टेशनों की रानी शिमला के पर्यटन स्थल की सूची | Shimla tourist places list in Hindi

ब्राइटनेस के बारे में (about mobile brightness )

false things about mobile brightness

बहुत से लोगों को लगता है कि फोन की ब्राइटनेस को ऑटो मोड में रखने से बैटरी जल्दी खत्म होती है, जबकि यह सच नहीं है। दरअसल, ऑटो ब्राइटनेस का मतलब होता है कि आप जब धूप में फोन का इस्तेमाल करेंगे, तब ब्राइटनेस अपने आप तेज हो जाएगी।

धौलाधार पर्वत के बारे में जाने हिंदी में – Know about dhauladhar mountain Himachal Pradesh in Hindi

Many people यह भी कहते हैं कि अगर फोन को रातभर चार्जिंग में लगाकर छोड़ दिया जाए तो battery जल्दी खराब हो जाती है, जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है। सच तो ये है कि जब मोबाइल फुल चार्ज हो जाता है तो वह automatically चार्जिंग लेना बंद कर देता है। तो इसमें परेशान होने वाली कोई बात नहीं है। 

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular