HomeHimachal Newsअति दुखद : दिवाली पर आंगन से 5 साल के बच्चे को...

अति दुखद : दिवाली पर आंगन से 5 साल के बच्चे को उठा ले गया तेंदुआ

Panic of Leopard Attack in Shimla has been seen once again in Shimla city of Himachal Pradesh. Here a five-year-old child has been taken away by a leopard from the courtyard of the house. This incident is of Lalpani Shimla under the old bus stand of Shimla city. Late night on the day of Diwali, when the child was burning sparklers in the courtyard of the house, the leopard has picked him up. The identity of the child could not be found even on Friday morning. However, the child's blood-stained paint has been found in the nearby forest. At the same time, the police had reached the spot after the incident. After the local councilor, the DFO of Shimla has confirmed the incident.

- Advertisement -

Himachal Pradesh के शिमला शहर में एक बार फिर से तेंदुए (Leopard Attack in Shimla) की दहशत देखने को मिली है. यहां पर घर के आंगन से एक पांच साल के बच्चे को तेंदुआ उठा कर ले गया है. यह घटना Shimla शहर के पुराने बस अड्डे के नीचे Lalpani Shimla की है. दीवाली के दिन देर रात बच्चा (Child) जब घर के आंगन में फुलझड़ी जला रहा था तो तेंदुआ (Leopard) उसको उठा कर ले गया है. बच्चे के बारे में शुक्रवार सुबह भी पता नहीं चल पाया है. हालांकि पास ही जंगल में बच्चे की खून से सनी पेंट मिली है. वहीं, पुलिस घटना के बाद मौके पर पहुंची थी. स्थानीय पार्षद के बाद शिमला के डीएफओ ने घटना की पुष्टि की है.

स्थानीय पार्षद ने बताया कि दिवाली की रात को करीब 8 बजे उन्हें यह सूचना मिली थी कि तेंदुआ एक पांच साल के बच्चे योगराज को उठा ले गया है. उन्होंने कहा कि अभी पता नहीं चला है कि तेंदुए ने ही हमला किया था या कोई और जानवर था. उन्होंने कहा कि रात को 11 बजे उन्होंने पुलिस को घटना की सूचना दी थी. वहीं, वन विभाग की टीम भी मौके पर पहुंची हुई है.

25 साल से शिमला में रहता है परिवार (Family lives in Shimla for 25 years)
जानकारी के अनुसार, हिमाचल के सोलन जिले के अर्की (Arki in Solan district of Himachal) के चंडी कश्लोग का यह परिवार बीते 25 साल से शिमला के ओल्ड बस स्टेंड (Shimla Old Bus Stand) के नीच डाउनटेल में रहता है. यहां पर देर रात बच्चा जब आंगन में फुलझड़ी जला रहा था तो तेंदुए ने हमला कर दिया. बच्चे का परिवार पुजारी है. बच्चे की मां ने बताया कि वह किचन में थी. इस दौरान बच्चा अंदर से फुलझड़ी जलाकर बाहर आया और बाद में उसका कुछ पता नहीं चला. काफी तलाश की पर कुछ पता नहीं चला है. Shimla DFO ने बताया कि मौके पर वन विभाग की टीम बच्चे की तलाश कर रही है. खून से सनी हुई एक पेंट मिली है. सीसीटीवी और पिंजरा लगाया गया है. बच्चे की जल्द ही तलाश कर ली जाएगी.

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular