HomeHimachal NewsDharamshala Hindi News | Dharamshala News In Hindi | धर्मशाला न्यूज़हिमाचल शर्मसार! 18 दिन में 6 मासूम बच्चों की हत्या

हिमाचल शर्मसार! 18 दिन में 6 मासूम बच्चों की हत्या

- Advertisement -

हिमाचल प्रदेश में लगातार इंसानियत को शर्मसार और रूह झकझोरने वाले मामले सामने आ रहे हैं. बीते 18 दिन में सूबे में 6 बच्चों की हत्या के मामले सामने आए हैं. चंबा में जहां तीन बच्चों को मां ने प्रेमी संग मार डाला. वहीं, मंडी में मां ने तीन महीने की बच्ची को पुल से फेंक दिया. वहीं, बिलासपुर में भी नवजात बच्ची को छोड़ने के बाद उसकी मौत हो गई.

पहला मामला चंबा जिले से है. 14 सितंबर 2021 को चंबा के सलूणी इलाके में महिला ने अपने पड़ोसी प्रेमी के साथ तीन बच्चों को मौत की नींद सुला दिया. वारदात में महिला के पति की भी मौत हो गई थी. महिला और उसके प्रेमी ने घर में आग लगा दी, जिससे, 2 साल, चार और छह साल के तीनों बच्चे जलकर मर गए. पति की भी मौत हो गई. बाद में पुलिस जांच में खुलासा हुआ कि महिला ने प्रेमी के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया.

मंडी में मां ने बच्चियों को पुल से फेंका
18 सितंबर 2021 को मंडी से रूह को झकझोरने की घटना सामने आई. यहां पर खड्ढ से जुड़वां बहनों के शव बरामद हुए. पुलिस ने मुस्तैदी से मां को गिरफ्तार किया. जिसने बाद में वारदात को कूबली. महिला एक साल बाद प्रेमी के पास रही लेकिन जब पति के पास लौटी तो सोचा कि बच्चियों के बारे में क्या बताएगी. बस, फिर बच्चियों को पुल फेंक दिया.तीन माह की इन बहनों की मौके पर ही मौत हो गई. कांगड़ा की मां की मंडी में शादी हुई थी और वह पति को छोड़कर चली गई थी.

बिलासपुर में खेत में छोड़ा बच्चा
2 अक्तूबर 2021 को बिलासपुर में नवजात बच्चे को झाड़ियों से बरामद किया गया. बरामदगी के वक्त मासूम की सांसें चल रह थी. बिलासपुर के झंडूता उपमंडल की ग्राम पंचायत घंडीर में यह घटना पेश आई थी. बाद में बच्चे को अस्पताल में मौत हो गई थी. पुलिस ने इस संबंध में केस दर्ज कर लिया है. बच्चे के जन्म घटना के एक या दिन पहले ही हुआ था.

सोलन में मंदिर के सीढ़ियों पर छोड़ा मासूम
सोलन में 4 अक्तूबर को शिव मंदिर कोटला नाला की सीढ़ियों पर नवजात शिशु को तौलिए में लपेटकर छोड़ दिया गया. सोमवार सुबह जब स्थानीय लोग सैर करने के लिए मंदिर के पास पहुंचे तो नवजात शिशु को सीढ़ियों पर देख पुलिस को इसकी सूचना दी. पुलिस ने शिशु को कब्जे में लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है. हालांकि बच्चे की जान बच गई है और उसका अस्पताल में इलाज चल रहा है. लेकिन ताजा मामले से देवभूमि शर्मसार हुई है.

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular