HomeHimachal Newsमातृवंदना योजना के अंतर्गत 7 करोड़ 87 लाख 75 हजार की राशि...

मातृवंदना योजना के अंतर्गत 7 करोड़ 87 लाख 75 हजार की राशि वितरित

- Advertisement -

हितेन्द्र शर्मा, शिमला

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के अंतर्गत अभी तक जिला में 19019 लाभार्थियों को 7 करोड़ 87 लाख 75 हजार की राशि वितरित कर जिला में लाभान्वित किया गया है। यह जानकारी उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी ने आज प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत आयोजित मातृ योजना सप्ताह में उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं, पर्यवेक्षकों तथा बाल विकास अधिकारियों को तथा जिला में प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत उत्कृष्ट कार्य करने वालों को पुरुस्कृत करने के उपरांत यह जानकारी दी।

उन्होनें बतया कि इस वर्ष अभी तक 1717 लाभार्थियों को 64 लाख 52 हजार रुपए की राशि प्रदान कर योजना के अधीन लाया गया है। उन्होनें कहा कि केन्द्र सरकार की इस महत्वपूर्ण योजना को प्रत्येक पात्र व्यक्ति तक पहुचानें के लिए हम समन्वय, सहयोग और गंभीरता से कार्य करें। उन्होनें कहा कि ऐसे आयोजन जहां कार्य की गति को बढ़ाने के लिए आवश्यक है वहीं परस्पर संवाद कायम कर कार्यक्षेत्र में आने वाली चुनौतियों और बाधाओं को हटाने के लिए भी अत्यन्त महत्वपूर्ण साबित होते हैं।

उन्होनें कहा कि इस योजना के तहत यदि कोई कठिनाई अथवा बाधा आती है तो जिला कार्यक्रम अधिकारी एवं महिला बाल विकास विभाग परस्पर समन्वय स्थापित करते हुए उसे सुलझाने का प्रयास करें ताकि योजना की निरन्तरता को बनाए रखा जा सके।

जिला कार्यक्रम अधिकारी वंदना चौहान ने स्वागत संबोधन में प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के संबंध में विस्तृत जानकारी दी। उन्होनें बताया कि केन्द्र सरकार के इस महत्वकांक्षी कार्यक्रम के दूरगामी प्रभाव है। गर्भवती माताओं की खाद्य सुरक्षा को सुनिश्चित करने के साथ साथ कुपोषण से लड़ने के लिए भी यह अत्यत प्रभावी योजना है जो स्वस्थ भारत का आधार स्तंभ है। उन्होनें बताया कि इस योजना के तहत 5,000 रुपए की राशि तथा जननी सुरक्षा योजना के तहत पात्र महिलाओं को 1100 रुपए की राशि दी जाती है।

कार्यक्रम में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता पुष्पा, पर्यवेक्षक कमला रांण्टा, नरेन्द्र ने तथा बाल विकास परियोजना अधिकारी डा0 राजेश और अजय बदरेल ने सप्ताह के दौरान किए गए कार्यों के आधार पर अपने विचार सांझा किए। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं में गुलाब देवी, सुभ्द्रा, भोला ठाकुर, अनिता देवी, संजिता शर्मा, संतोष, शिखा, शोभा कुमारी, शिला, पुष्पा और बबली वर्मा को सम्मानित किया गया।

पर्यवेक्षकों में किरण शर्मा, रमला भारती, नरेन्द्र सिंह, रिना चौहान, सुनिता श्याम, निलम शर्मा, मालती, सेना देवी, आदर्श दत्ता, कमला रांटा, नरेन्द्र को सम्मानित किया गया। सप्ताह के तहत ननखड़ी ब्लॉक ने उत्कृष्ट कार्य करने में प्रथम छोहारा ने द्वितीय तथा शिमला शहरी ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।

जिला कार्यक्रम समन्वयक कृष्ण चौहान, जिला कार्यक्रम सहायक मनोज वर्मा, खण्ड समन्वयक नरेश कुमार, जिला समन्वयक नीरज व सहायक समन्वयक दिव्यांशी को सम्मानित किया गया। बाल विकास परियोजना अधिकारी रुपा रानी, बाल विकास परियोजना अधिकारी सुन्नी बिहारी लाल को भी सम्मानित किया।
बाल विकास परियोजना अधिकारी शिमला शहरी के तहत इस योजना में उत्कृष्ट कार्य करने वाली पर्यवेक्षक न्यू शिमला नर्वदा शर्मा, पर्यवेक्षक चक्कर सुशीला, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता टूटी कंडी, न्यू शिमला-2 अनिता और शांगटी पूनम को भी पुरुष्कृत किया। बाल विकास परियोजना अधिकारी शिमला शहरी ममता पॉल ने आभार उद्बोधन में उपायुक्त द्वारा दिए गए निर्देशों व सुझाए गए बिंदुओं को विभाग द्वारा अपनाकर कार्यक्रम को और अधिक गति प्रदान करने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि उपायुक्त महोदय के मार्गदर्शन में महिला एवं बाल विकास के अंतर्गत विभिन्न योजनाओं को क्रियान्वित करने के लिए सदैव प्रयासरत रहेंगे।

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular